गोमुखासन Gomukhasana

विधि:-

दोनों पै सामने फैला बैठें। बाएं पै ो मोड़ एड़ी ो दाएं नितम्ब (buttocks) े पास खें।
दायें पै ो मोड़ बाएं पै े ऊप इस प्ा खें ी दोनों घुटने ए दूसे े ऊप हो जाएँ।
दायें हाथ ो ऊप उठा पीठ ी ओ मुडिए तथा बाएं हाथ ो पीठ े पीछे नीचे से ला दायें हाथ ो पडिये .. ग्दन औ म सीधी हे।
ए ओ़ से लगभग ए मिनट त ने े पश्चात दूसी ओ़ से इसी प्ा ें।
Tip:- जिस ओ़ ा पै ऊप खा जाए उसी ओ़ ा (दाएबाएं) हाथ ऊप खें.

लाभ:-

अंडोष वृद्धि एवं आंत् वृद्धि में विशेष लाभप्द है।
धातुोग, बहुमूत् एवं स्त्ी ोगों में लाभाी है।
यृत, गु्दे एवं व्ष स्थल ो बल देता है। संधिवात, गाठिया ो दू ता है।

यहाँ देखे वीडियो